WhatsApp के इस नए पोर्टल पर वॉट्सऐप के सिक्योरिटी अप्डेट्स के बारे में बताया जाएगा. कंपनी ने इसके साथ ही 6 ख़ामियों के बारे में भी बताया है.

सिक्टोरिटी खामियों का अपडेट
WhatsApp ने एक नई वेबसाइट लॉन्च की है. ये वेबसाइट दरअसल कंपनी ने सिक्योरिटी ऐडवाइजरी, अप्डेट्स और ख़ामियों के बारे में बताएगी. वॉट्सऐप की ख़ामियों के बारे में भी यूज़र्स इस वेबसाइट पर जा कर जानकारी हासिल कर सकते हैं.

छह खामियों की जानकारी
WhatsApp ने इस वेबसाइट के लॉन्च के साथ कंपनी ने इस साल WhtasApp में खोजी गई 6 खामियों के बारे में भी बताया है. इसी वेबसाइट पर ही कंपनी ने इन सिक्योरिटी खामियों का जिक्र किया है. हालांकि इन्हें ठीक कर लिया गया है.

WhatsApp फीचर्स 
वॉट्सऐप ने कहा है कि इन 6 में से 5 ख़ामियां पहले दिन ही ठीक कर ली गई थीं. कंपनी ने कहा है कि इनमें से कुछ बग्स रिमोटली ट्रिगर हुए होंगे. हालांकि ये भी कहा गया है कि वॉट्सऐप के पास ऐसे कोई सबूत नहीं हैं कि जिससे ये मालूम हो सके कि इस ख़ामी का फ़ायदा हैकर्स ने उठाया है.

मिलेंगे सिक्योरिटी से जुड़े अपडेट्स 
दुनिया भर में WhatsApp के 2 अरब से भी ज़्यादा यूज़र्स हैं और आए दिन इस ऐप में कुछ न कुछ सिक्योरिटी ख़ामियाों का पता चलता है. कंपनी ने कहा है कि वॉट्सऐप कम्यूनिटी सिक्योरिटी ख़ामियों की ख़बर रखने के लिए सेंट्रलाइज्ड लोक्शन की मांग कर रहे थे.

सिक्योरिटी के लिए नया पोर्टल 
वॉट्सऐप ने जो नई वेबसाइट या पोर्टल तैयार किया है वो हर महीने अपडेट किया जाएगा. अगर महीने से पहले ही कंपनी को सिक्योरिटी से जुड़ी वॉर्निंग जारी करनी हुई तो भी इस वेबसाइट के ज़रिए कंपनी यूज़र्स को जानकारी देगी.

WhatsApp की खामियों का आर्काइव 
इस वेब पेज में न सिर्फ़ लेटेस्ट सिक्योरिटी बग्स के बारे में होगा, जबकि 2018 तक की सिक्योरिटी ख़ामियों का आर्काइव भी दिया गया है. वॉट्सऐप के इस पेज को आप यहां क्लिक करके ऐक्सेस कर सकते हैं.

वॉट्सऐप स्पाई कर रहा था Pegasus 
ग़ौरतलब है कि हैकिंग को लेकर WhatsApp हाल ही में सवालों के घेरे में था. पिछले साल ये पाया गया था कि इज़राइल की स्पाइवेयर मेकर NSO Group अपने टूल के जरिए वॉट्सऐप हैक कर सकती है. इस स्पाइवेयर का नाम Pegasus था.