अहमदाबाद | पिछले सप्ताह शहर के खोखरा क्षेत्र में मास्क नहीं पहनने पर एक युवक को लाठियों से पीटना स्थानीय पुलिस थाने के कांस्टेबल को महंगा पड़ गया है| डीसीपी जोन 5 ने कांस्टेबल को सस्पैंड कर दिया है| दिवाली के बाद राज्य में खासकर महानगरों का कोरोना का कहर बढ़ने से अहमदाबाद, सूरत, राजकोट और वडोदरा में रात्रि कर्फ्यू लगा दिया गया है| जिसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ पुलिस सख्त कार्रवाई कर रही है| बगैर मास्क पहने घूमते लोगों से जुर्माना वसूला जा रहा है| जिसे लेकर पुलिस और लोगों के बीच कहासुनी की अनेक घटनाएं सामने आ रही हैं| पुलिस की कार्यवाही को लोग ऐसे देख रहे हैं जैसे वह बेवजह प्रताड़ित कर रही है| हांलाकि कुछ पुलिस कांस्टेबल ऐसे भी हैं जो अपने अधिकारों का दुरुपयोग कर रहे हैं| ऐसी ही एक घटना अहमदाबाद के खोखरा क्षेत्र से सामने आई है| पिछले सप्ताह सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हुआ था| जिसमें खोखरा क्षेत्र की एक सोसायटी के दरवाजे के निकट युवक मोबाइल पर बात कर रहा है| उस वक्त वहां से पुलिस वैन लेकर गुजर रहे कांस्टेबल भरत कालूभाई युवक को पकड़ लेता है और उस पर लाठियां भांजता है| वीडियो सामने आने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने जांच के आदेश दिए थे| एसीपी की रिपोर्ट के बाद झोन 5 के डीसीबी ने कांस्टेबल भरत कालूभाई को सस्पैंड कर दिया है| जांच में पता चला कि पुलिस कांस्टेबल भरत कालूभाई खोखरा पुलिस थाने में सेवारत है और 15 दिसंबर को वह किसी की मंजूरी लिए बगैर सरकारी गाड़ी लेकर अपने घर गया था| उस वक्त सोसायटी के दरवाजे के निकट मोबाइल पर बातचीत कर रहे गोपाल सथवारा नामक युवक की पिटाई की थी| यह घटना पुलिस बेडे के लिए अशोभनीय और अनुशासन के खिलाफ है, इसलिए कांस्टेबल को सस्पैंड किया गया है|