Monday, 17 June 2019, 4:29 PM

तीज एवं त्यौहार

वट सावित्री पूर्णिमा व्रत : जानिए महत्व, पूजा विधि और सुनें कथा

Updated on 16 June, 2019, 6:30
हिन्दू धर्म में वट वृक्ष का खास महत्व है। वट वृक्ष यानी बरगद के पेड़ की पूरे भारत में पूजा की जाती है। वट वृक्ष की पूजा करने वाली महिलाओं का सुहाग अजर-अमर रहता है और उन्हें संतान सुख प्राप्त होता है। वट वृक्ष की शाखाओं और लटों को सावित्री... आगे पढ़े

12 जून को आ रहा है श्री गंगा दशहरा, पुण्य कमाने का यह है अवसर सुनहरा

Updated on 11 June, 2019, 6:15
गंगा माता का महत्व कौन नहीं जानता? श्री गंगा माता इस देश की सबसे पवित्रतम नदी मानी गई है। इसका जल इतना शुद्ध और निर्मल होता है कि विपरीत हालातों में भी दुषित नहीं होता। यूं तो गंगा माता में नहाने के लिए हर हिंदू तिथि उपयुक्त बताई गई है... आगे पढ़े

महेश नवमी 2019 : शिवजी ने माहेश्वरी समाज के पूर्वजों को दिया था अपना नाम, पढ़ें प्रामाणिक कथा

Updated on 11 June, 2019, 6:00
महेश नवमी माहेश्वरी समाज का प्रमुख पर्व है। ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को यह पर्व मनाया जाता है। माहेश्वरी समाज की उत्पति भगवान शिव के वरदान से इसी दिन हुई। महेश नवमी के दिन देवाधिदेव शिव व जगतजननी मां पार्वती की आराधना की जाती है। कथा :... आगे पढ़े

विनायक चतुर्थी, पढ़ें श्री गणेश चतुर्थी की प्रामाणिक व्रत कथा...

Updated on 6 June, 2019, 6:00
* विनायकी चतुर्थी पर पढ़ें पौराणिक कथा, होगी     समस्त मनोकामनाओं की पूर्ति... श्री गणेश चतुर्थी व्रत की पौराणिक कथा के अनुसार एक बार भगवान शिव तथा माता पार्वती नर्मदा नदी के किनारे बैठे थे। वहां माता पार्वती ने भगवान शिव से समय व्यतीत करने के लिये चौपड़ खेलने को कहा। शिव चौपड़... आगे पढ़े

5 जून को रम्भा तीज व्रत, सुहाग की रक्षा तथा बुद्धिमान संतान के लिए जानिए कैसे करें यह व्रत

Updated on 5 June, 2019, 6:15
रम्भा तृतीया व्रत ज्येष्ठ शुक्ल तृतीया को किया जाता है। वर्ष 2019 में यह व्रत बुधवार, 5 जून को मनाया जा रहा है। हिन्दू धर्मग्रंथों के अनुसार रम्भा तृतीया व्रत (रंभा तीज व्रत) शीघ्र फलदायी माना जाता है। इस दिन विवाहित महिलाएं अपने सुहाग की लंबी उम्र, बुद्धिमान संतान पाने के... आगे पढ़े

ईद-उल-फितर 2019 : अल्लाह की तरफ से तोहफा है ईद, मन्नतें पूरी होने का दिन

Updated on 5 June, 2019, 6:00
'ईद-उल-फितर' (ईद-उल-फित्र) दरअसल दो शब्द हैं। 'ईद' और 'फित्र'। असल में 'ईद' के साथ 'फित्र' को जोड़े जाने का एक खास मकसद है। वह मकसद है रमजान में जरूरी की गई रुकावटों को खत्म करने का ऐलान। साथ ही छोटे-बड़े, अमीर-गरीब सबकी ईद हो जाना। यह नहीं कि पैसे वालों... आगे पढ़े

चांद आया नजर, देशभर में कल मनाई जाएगी ईद-उल-फितर

Updated on 4 June, 2019, 23:00
नई दिल्ली: देशभर में पांच जून, बुधवार को ईद मनाई जाएगी. जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने बुधवार को इस बात का ऐलान किया. मंगलवार शाम को ईद का चांद नजर आया. ईद का जश्न बुधवार को होगा. जैसे ही लोगों को यह जानकारी मिली रोजेदार खुशी... आगे पढ़े

इंसानियत का पैगाम देता है ईद-उल-फितर का त्योहार

Updated on 4 June, 2019, 6:15
रमजान माह की इबादतों और रोजे के बाद जलवा अफरोज हुआ ईद-उल फितर का त्योहार खुदा का इनाम है, मुसर्रतों का आगाज है, खुशखबरी की महक है, खुशियों का गुलदस्ता है, मुस्कुराहटों का मौसम है, रौनक का जश्न है। इसलिए ईद का चांद नजर आते ही माहौल में एक गजब... आगे पढ़े

वट सावित्री व्रत 2019 : पढ़ें सती सावित्री और सत्यवान की प्रचलित कथा

Updated on 3 June, 2019, 6:30
प्रतिवर्ष ज्येष्ठ मास की अमावस्या को उत्तर भार‍‍त की सुहागिनों द्वारा तथा ज्येष्ठ मास की पूर्णिमा को दक्षिण भार‍त की सुहागिन महिलाओं द्वारा वट सावित्री व्रत का पर्व मनाया जाता है। कहा जाता है कि वट वृक्ष की जड़ों में ब्रह्मा, तने में भगवान विष्णु व डालियों व पत्तियों में भगवान... आगे पढ़े

29वां रोज़ा : दुआ का पैग़ाम देता है माहे-रमज़ान का आख़िरी दिन

Updated on 3 June, 2019, 6:15
उन्तीसवां रोज़ा आ रहा है। अगर ईद का चांद आज शाम को नज़र आता है तो माहे-रमज़ान के आख़िरी अशरे यानी दोज़ख से निजात के अशरे (नर्क से मुक्ति का कालखंड) का यह आख़िरी रोज़ा होगा। लेकिन आज चांद नज़र नहीं आता है तो इंशाअल्लाह कल तीसवां और आख़िरी रोज़ा... आगे पढ़े

शनि जयंती पर यह 6 मंत्रोच्चार, खोलेंगे सफलता के बड़े और सुनहरे द्वार

Updated on 3 June, 2019, 6:00
शनि जयंती या प्रति शनिवार इन विशेष मंत्रों के जाप से यश, सुख, समृद्धि, कीर्ति, पराक्रम, वैभव, सफलता और अपार धन-धान्य के साथ प्रगति के द्वार खुलते हैं। किसी एक मंत्र का चयन करें और अवश्य जपें.... 1. बीज मंत्र- ॐ शं शनैश्चराय नम: 2. तंत्रोक्त मंत्र- ॐ प्रां. प्रीं. प्रौ. स:... आगे पढ़े

शनि जयंती पर यह 15 काम कर लीजिए, इतना आएगा धन कि संभाल नहीं पाएंगे

Updated on 2 June, 2019, 6:30
शनि जयंती सबसे सुनहरा अवसर है शनि संबंधी सरल और पवित्र उपाय आजमाने के लिए। यह सरलतम उपाय शुभ और हानिरहित हैं। 1 . शनि जयंती को काले रंग की चिड़िया खरीदकर उसे दोनों हाथों से आसमान में उड़ा दें। आपकी दुख-तकलीफें दूर हो जाएंगी। 2 . शनि जयंती के दिन लोहे... आगे पढ़े

वट सावित्री व्रत 2019 : पढ़ें सती सावित्री और सत्यवान की प्रचलित कथा

Updated on 2 June, 2019, 6:15
प्रतिवर्ष ज्येष्ठ मास की अमावस्या को उत्तर भार‍‍त की सुहागिनों द्वारा तथा ज्येष्ठ मास की पूर्णिमा को दक्षिण भार‍त की सुहागिन महिलाओं द्वारा वट सावित्री व्रत का पर्व मनाया जाता है। कहा जाता है कि वट वृक्ष की जड़ों में ब्रह्मा, तने में भगवान विष्णु व डालियों व पत्तियों में भगवान... आगे पढ़े

सोमवती अमावस्या के दिन क्या करें कि जीवन में शुभता आए, पढ़ें पौराणिक कथा

Updated on 2 June, 2019, 6:00
सोमवार को पड़ने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहते है। यह अमावस्या हिंदू धर्म में विशेष धार्मिक महत्व रखती है। इस दिन सुहागिन महिलाओं द्वारा अपने पति की दीर्घायु कामना के लिए व्रत रखने का विधान है। इस दिन मौन व्रत रहने से सहस्र गोदान का फल प्राप्त होता है,... आगे पढ़े

आज से वट व्रत प्रांरभ : 3 दिनों तक चलेगा व्रत-उपवास का सिलसिला, जानें वट सावित्री व्रत का महत्व

Updated on 1 June, 2019, 6:00
शनिवार, 1 जून 2019 से वट व्रत प्रारंभ हो रहा है। ज्येष्ठ कृष्ण त्रयोदशी से अमावस्या तक 3 दिनों तक महिलाएं व्रत-उपवास रखकर वटवृक्ष का पूजन करती हैं। ज्येष्ठ मास के व्रतों में वट अमावस्या का व्रत बहुत प्रभावी माना जाता है जिसमें सौभाग्यवती स्त्रियां अपने पति की लंबी आयु एवं... आगे पढ़े

ज्येष्ठ मास में कब, कौन से त्योहार आ रहे हैं, जानिए यहां

Updated on 27 May, 2019, 6:15
हिन्दी पंचांग का तीसरा माह ज्येष्ठ शुरू हो गया है। ये माह सोमवार, 17 जून तक रहेगा। इन दिनों में सूर्यदेव रोद्र रूप में रहते हैं, इस कारण इन दिनों में गर्मी काफी अधिक रहती है। हर साल चैत्र और वैशाख मास में गर्मी धीरे-धीरे बढ़ती है और ज्येष्ठ में... आगे पढ़े

नारद जयंती 20मई पर विशेष- देवताओं के प्रवक्ता देवर्षि नारद  

Updated on 20 May, 2019, 6:00
देवर्षि नारद (नारद मुनि) वैदिक शास्त्रों के अनुसार, ब्रह्मा के छः पुत्रों में से छठे हैं। उन्होंने कठिन तपस्या से ब्रह्मर्षि पद प्राप्त किया । वे भगवान विष्णु के अनन्य भक्तों में से एक माने जाते हैं। देवर्षि नारद धर्म के प्रचार तथा लोक-कल्याण हेतु सदैव प्रयत्नशील रहते हैं। शास्त्रों में... आगे पढ़े

शत्रु भय से तुरंत छुटकारा दिलाएगी श्री नृसिंह भगवान की यह आरती

Updated on 18 May, 2019, 6:30
श्री नरसिंह भगवान की आरती आरती कीजै नरसिंह कुंवर की। वेद विमल यश गाऊं मेरे प्रभुजी।। पहली आरती प्रह्लाद उबारे, हिरणाकुश नख उदर विदारे। दूसरी आरती वामन सेवा, बलि के द्वार पधारे हरि देवा। आरती कीजै नरसिंह कुंवर की। तीसरी आरती ब्रह्म पधारे, सहसबाहु के भुजा उखारे। चौथी आरती असुर संहारे, भक्त विभीषण लंक पधारे। आरती कीजै नरसिंह कुंवर की। पांचवीं आरती कंस... आगे पढ़े

 पाप नांशी बुद्घ पूर्णिमा का स्नान 

Updated on 18 May, 2019, 6:15
पूरी दुनिया महात्मा बुद्ध को सत्य की खोज के लिये जाना जाता है। राजसी ठाठ बाट छोड़कर सिद्धार्थ सात सालों तक सच को जानने के लिये वन में भटकते रहते हैं। उसे पाने के लिये कठोर तपस्या करते हैं और सत्य को खोज निकालते हैं। फिर उस संदेश को पूरी... आगे पढ़े

 बौद्ध दर्शन में है जीवन का यथार्थ 

Updated on 18 May, 2019, 6:00
बौद्ध दर्शन से अभिप्राय उस दर्शन से है जो भगवान बुद्ध के निर्वाण के बाद बौद्ध धर्म के विभिन्न सम्प्रदायों द्वारा विकसित किया गया और बाद में पूरे एशिया में उसका प्रसार हुआ। 'दुःख से मुक्ति' बौद्ध धर्म का सदा से मुख्य ध्येय रहा है। कर्म, ध्यान एवं प्रज्ञा इसके... आगे पढ़े

नृसिंह जयंती विशेष : क्या करें इस दिन, पढ़ें 15 जरूरी बातें

Updated on 17 May, 2019, 6:00
वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को नृसिंह जयंती का व्रत किया जाता है। इस दिन भगवान श्री नृसिंह ने खंभे को चीरकर भक्त प्रह्लाद की रक्षार्थ अवतार लिया था। इसलिए इस दिन उनका जयंती-उत्सव मनाया जाता है। इस वर्ष यह पर्व 17 मई 2019 को है। नृसिंह जयंती व्रत... आगे पढ़े

18 मई को है बुद्ध पूर्णिमा, आज भी है बुद्ध की प्रासंगिकता

Updated on 15 May, 2019, 6:30
ईसा पूर्व कपिलवस्तु के महाराजा शुद्धोदन की धर्मपत्नी महारानी महामाया देवी की कोख से नेपाल की तराई के लुम्बिनी वन में जन्मे सिद्धार्थ ही आगे चलकर बुद्ध कहलाए। बुद्ध के जन्म, बोध और निर्वाण के संदर्भ में भारतीय पंचांग के वैशाख मास की पूर्णिमा की पवित्रता की प्रासंगिकता स्वयंसिद्ध है। वैसाखी... आगे पढ़े

17 मई को है श्री नृसिंह जयंती, कैसे मनाएं उत्सव कि मिले धन और बल का आशीष

Updated on 15 May, 2019, 6:15
भगवान श्री नृसिंह शक्ति तथा पराक्रम के प्रमुख देवता हैं। वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को नृसिंह जयंती का व्रत किया जाता है। इस दिन भगवान श्री नृसिंह ने खंभे को चीरकर भक्त प्रह्लाद की रक्षार्थ अवतार लिया था। इसलिए इस दिन उनका जयंती-उत्सव मनाया जाता है। इस  ... आगे पढ़े

केवट और प्रभु श्रीराम 

Updated on 15 May, 2019, 6:00
(केवट जयंती 15 मई पर विशेष)  रामायण  एक उच्च आदर्शों से ओतप्रोत महान धार्मिक ग्रंथ है। उसमें भक्ति, नीति, न्याय, आध्यात्म व मानवीय मूल्यों के अतिरिक्त व्यापक रूप में सामाजिक चेतना भी विद्यमान है। न तो मानस में हमें छुआछूत दिखाई देता है,न ही वर्णगत/जातिगत भेदभाव।रघुकुल नंदन श्रीराम हर जाति/वर्ग के... आगे पढ़े

15 मई मोहिनी एकादशी, क्यों माना गया है इसका अधिक महत्व, जानिए 11 खास बातें

Updated on 14 May, 2019, 6:15
वैशाख शुक्ल एकादशी यानी मोहिनी एकादशी पर भगवान विष्णु की आराधना करने से जहां सुख-समृद्धि बढ़ती है वहीं शाश्वत शांति भी प्राप्त होती है। इस वर्ष मोहिनी एकादशी वैशाख शुक्ल एकादशी यानी 15 मई 2019, बुधवार को आ रहा है। अत: इस दिन व्रत-उपवास रखकर मोह-माया के बंधन से मु‍क्त... आगे पढ़े

पीले वस्त्रों में मां बगलामुखी के ये 4 मंत्र पढ़ेंगे तो दुनिया की कोई शक्ति पराजित नहीं कर सकेगी

Updated on 13 May, 2019, 6:00
मां बगलामुखी देवी के 4 विशेष दुर्लभतम मंत्र मां बगलामुखी देवी के समस्त मंत्र दुर्लभतम हैं। इन मंत्रों के प्रयोग भी अन्य प्रयोग से जरा हटकर होते हैं। पीले वस्त्रों में मां बगलामुखी के ये 4 मंत्र पढ़ेंगे तो दुनिया की कोई शक्ति पराजित नहीं कर सकेगी आइए डालें एक नजर... आगे पढ़े

तंत्र की सबसे बड़ी देवी हैं मां बगलामुखी, कठिन समय में देती हैं संबल, पढ़ें पूजा की सावधानियां

Updated on 12 May, 2019, 6:15
प्राचीन तंत्र ग्रंथों में दस महाविद्याओं का उल्लेख मिलता है। 1. काली 2. तारा 3. षोड़षी 4. भुवनेश्वरी 5. छिन्नमस्ता 6. त्रिपुर भैरवी 7. धूमावती 8. बगलामुखी 9. मातंगी 10. कमला। मां भगवती श्री बगलामुखी का महत्व समस्त देवियों में सबसे विशिष्ट है। मां बगलामुखी यंत्र चमत्कारी सफलता तथा सभी प्रकार... आगे पढ़े

प्राकट्य दिवस-11मई पर विशेष: न्याय के देवता-श्री चित्रगुप्त 

Updated on 11 May, 2019, 6:00
अक्षर ब्रम्ह भगवान श्री चित्रगुप्त जी एक प्रमुख हिन्दू देवता हैं। मिथकों और पुराणों के अनुसार धर्मराज चित्रगुप्त अपने दरबार में मनुष्यों के पाप-पुण्य का लेखा-जोखा कर के न्याय करने वाले बताए गये हैं।चित्रगुप्त को न्याय का देवता माना जाता है। मनुष्यों की मृत्यु के पश्चात, पृथ्वी पर उनके द्वारा... आगे पढ़े

मां बगलामुखी जयंती 12 मई को : आकाश-पाताल और 10 दिशाओं से रक्षा करेगा विशेष कवच मंत्र

Updated on 10 May, 2019, 6:15
इस वर्ष मां बगलामुखी जयंती 12 मई 2019 को है। इस दिन को मां पीतांबरा जयंती के नाम से भी जाना जाता है। मां बगलामुखी जयंती के अतिरिक्त भी प्रतिदिन प्रस्तुत मंत्र का जाप करने से आपकी आकाश-पाताल व दसों दिशाओं से रक्षा होती है, संसार में कोई आपको हानि नहीं... आगे पढ़े

रमजान के हर अशरे का है अपना महत्व 

Updated on 9 May, 2019, 6:15
रमजान का महीना हर मुसलमान के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है, जिसमें 30 दिनों तक रोजे रखे जाते हैं। इस्लाम के मुताबिक, पूरे रमजान को तीन हिस्सों में बांटा गया है, जो पहला, दूसरा और तीसरा अशरा कहलाता है। अशरा अरबी का 10 नंबर होता है। इस तरह रमजान के पहले... आगे पढ़े